IND vs SA’ 1st Test: एल्गर और डिकॉक के शतकों ने कराई दक्षिण अफ्रीका की शानदार वापसी

Team BetVerse
Courtesy: Twitter

डीन एल्गर और क्विंटन डि कॉक ने भारतीय गेंदबाजों का डटकर सामना करते हुए दक्षिण अफ्रीका को पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के तीसरे दिन अच्छी वापसी दिलाई। एल्गर ने 160 रन की लाजवाब पारी खेली और वह 2010 के बाद भारतीय सरजमीं पर शतक जड़ने वाले पहले दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज बने, जबकि डि कॉक (111) ने अपने सदाबहार अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए सैकड़ा जड़ा। इन दोनों की शतकीय पारियों के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक 8 विकेट पर 385 रन बनाए हैं। दक्षिण अफ्रीकी टीम अभी भारत से 117 रन पीछे है, जिसने अपनी पहली पारी 7 विकेट पर 502 रन बनाकर समाप्त घोषित की थी। भारतीय पारी का आकर्षण मयंक अग्रवाल (215) और रोहित शर्मा (176) की सलामी जोड़ी के बड़े शतक रहे।

भारत को मैच के तीसरे दिन पहले दो सत्र में केवल दो सफलताएं मिलीं लेकिन तीसरे सत्र में गेंदबाज डीन एल्गर और डि कॉक दोनों को आउट करने में सफल रहे। इस मैच में अब तक रविचंद्रन अश्विन भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे हैं। उन्होंने अब तक 128 रन देकर पांच विकेट लिए हैं। रवींद्र जडेजा को 2 सफलताएं मिली हैं। इशांत शर्मा ने अब तक 1 विकेट लिया है। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे दिन के खेल की शुरुआत 3 विकेट पर 39 रन से की और तब मैच एकतरफा लग रहा था। लेकिन इसके बाद एल्गर ने पारी को अच्छी तरह से संवारा और उन्हें दूसरे छोर से पर्याप्त सहयोग मिला। एल्गर और कप्तान फैफ डु प्लेसी (55) ने पांचवें विकेट के लिए 115 रन की साझेदारी की। इसके बाद डि कॉक ने एल्गर का छठे विकेट के लिए बखूबी उनका साथ दिया। इन दोनों ने ने 164 रन जोड़े।

आर अश्विन ने दूसरे सत्र में डु प्लेसी का विकेट लेने के बाद तेजी से टर्न लेती गेंद पर डिकॉक को बोल्ड किया। इससे पहले रविंद्र जडेजा (116 रन देकर दो) ने एल्गर का विकेट लेकर टेस्ट मैचों में अपने 200 विकेट पूरे किए। वह टेस्ट क्रिकेट में 200 या उससे अधिक विकेट लेने वाले दसवें भारतीय गेंदबाज हैं। पिच बल्लेबाजी के अनुकूल थी। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों ने इसका फायदा उठाते हुए अपनी टीम की शानदार वापसी कराई। तीसरे दिन के पहले दोनों सत्र दक्षिण अफ्रीका के नाम रहे लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने तीसरे सत्र में अच्छी वापसी की। एल्गर तीसरे सत्र में आउट होने वाले पहले बल्लेबाज थे जिनका चेतेश्वर पुजारा ने रवींद्र जडेजा की गेंद पर स्क्वायर लेग पर खूबसूरत कैच लपका। डिकॉक ने भी एल्गर की तरह अश्विन पर छक्का जड़कर अपना शतक पूरा किया लेकिन वह इसके बाद लंबी पारी नहीं खेल पाए। अश्विन ने वर्नोन फिलैंडर को बोल्ड करके अपना पांचवां विकेट लिया। 

तीसरे दिन स्टंप के समय सेनुरन मुतुस्वामी 12 और केशव महाराज 3 रन पर खेल रहे थे। इससे पहले एल्गर ने उपमहाद्वीप की कड़ी परिस्थितियों में अपने कौशल का शानदार नजारा पेश किया और अपने टेस्ट करियर का 12वां शतक पूरा किया। हाशिम अमला के 2010 में शतक लगाने के बाद वह भारतीय धरती पर तिहरे अंक में पहुंचने वाले पहले दक्षिण अफ्रीकी हैं। भारतीय स्पिनरों को तीसरे दिन शुरू से ही सबसे बड़ा खतरा माना जा रहा था लेकिन एल्गर ने बड़ी कुशलता से उनका सामना किया। उन्होंने दबाव हटाने के लिए कुछ अवसरों पर हवा में भी शॉट खेले। उनके बल्ले से 18 चौकों के अलावा चार छक्के भी निकले। एल्गर ने अश्विन पर कॉउ कार्नर पर छक्का जड़कर लाजवाब अंदाज में अपना शतक पूरा किया।

दूसरी तरफ डु प्लेसी के 58वें ओवर में आउट होने के बाद डिकॉक ने स्पिनरों को निशाने पर रखा। वह सीमित ओवरों की शैली में खेले और अपना पांचवां टेस्ट शतक लगाया। उन्होंने अपनी पारी में 16 चौके और दो छक्के लगाये। भारत ने बीच में हनुमा विहारी और रोहित शर्मा जैसे कामचलाऊ स्पिनर भी आजमाए। दक्षिण अफ्रीका ने सुबह तेम्बा बावुमा (18) का विकेट जल्दी गंवा दिया जिससे स्कोर 4 विकेट पर 63 रन हो गया। बावुमा को इशांत शर्मा ने पगबाधा आउट किया। इसके बाद एल्गर ने डु प्लेसी ने भारतीय आक्रमण का डटकर सामना किया तथा लंच तक स्कोर 4 विकेट पर 153 रन पर पहुंचाया। इस बीच एल्गर जब 74 रन पर थे तब रविंद्र जडेजा की गेंद पर ऋद्धिमान साहा उनका मुश्किल कैच नहीं ले पाए। दूसरी तरफ डु प्लेसी सहज होकर खेल रहे थे, उन्होंने अश्विन पर पारी का पहला छक्का लगाया। डु प्लेसी की पारी में आठ चौके और एक छक्का शामिल है।

Original article courtesy Livehindustan.com at: https://www.livehindustan.com/cricket/story-dean-elgar-and-quinton-de-kock-centuries-helps-south-africa-to-make-strong-comeback-against-india-in-visakhapatnam-test-match-2781636.html

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

A Volleyball special.. Check it out

error: Content is protected !!